Sunday , February 24 2019
Loading...
Breaking News

कजाकिस्तान से पराजय के साथ ही वर्ल्ड ग्रुप से बाहर हुई यह टीम

इंडियन महिला टेनिस टीम को शुक्रवार को यहां फेड कप के एशिया-ओसनिया ग्रुप स्तर के पूल-ए के अपने दूसरे मुकाबले में कजाकिस्तान से पराजय का सामना करना पड़ा कजाकिस्तान ने हिंदुस्तान को 3-0 से मात दी पूल-ए के इस मुकाबले में हिंदुस्तान की ओर से अंकिता रैना  करमन कौर थांडी को अपने-अपने सिंगल्स मुकाबले में शिकस्त झेलनी पड़ी इंडियन टीम कजाकिस्तान से पराजय के साथ ही वर्ल्ड ग्रुप से बाहर हो गई है अब वह एशिया ओसेनिया ग्रुप में खेलेगी

सिंगल्स वर्ग के पहले मुकाबले में वर्ल्ड नंबर-96 लोकल खिलाड़ी जरिना डियाज ने करमन को 6-3, 6-2 से पराजित किया करमन सिर्फ दो ब्रेक अंक ही अपने पक्ष में कर पाईं यह मैच एक घंटे 22 मिनट तक चला इंडियन खिलाड़ी को आठ ब्रेक प्वाइंट मिले, लेकिन वह सिर्फ दो का लाभ ही उठा सकीं

करमन की पराजय के बाद हिंदुस्तान को अंकिता से उम्मीदें थीं उन्होंने एक घंटे 57 मिनट तक कड़ा प्रयत्न किया, लेकिन जीत नहीं सकीं वर्ल्ड नंबर-165 अंकिता अपनी प्रतिद्वंद्वी युलिया पुतिनत्सेवा से मुकाबला गंवा बैठी वर्ल्ड नंबर-43 युलिया ने अंकिता को 6-1, 7-6 से मात दी
सिंगल्स में पराजय झेलने के बाद डबल्स में हिंदुस्तान को निराशा ही हाथ लगी रिया भाटिया  प्रार्थना थोंबारे की इंडियन जोड़ी को ऐना दानिलिना  गालिना वोस्कोबोएवा ने 6-1, 6-1 से हराया

इससे पहले हिंदुस्तान ने गुरुवार को फेड कप के एशिया-ओसनिया ग्रुप स्तर के पूल-ए के अपने पहले मुकाबले में थाईलैंड को 2-1 से हराया था इसमें हिंदुस्तान ने एक सिंगल्स डबल्स मैच जीता था मुकाबले का पहला मैच करमन  थाईलैंड की नुडनिदा लुआंगनाम के बीच था इसमें लुआंगनाम ने करमान को 2-6, 6-3, 3-6 से मात दी इसके बाद अंकिता रैना ने पीयांगटेम प्लीपुएक को 6-3 (3-7), 6-2, 6-4 से हराकर हिंदुस्तान को मैच में वापस ला दिया डबल्स में अंकिता  करमन की जोड़ी ने नुडनिदा  पीयांगटेम को 6-4, 6-7 (6-8), 7-5 से हराकर हिंदुस्तान को 2-1 से जीत दिलाई

अब हिंदुस्तान का सामना एशिया ओसेनिया ग्रुप में तीसरे जगह के लिए मुकाबला दक्षिण कोरिया से होगा फेड कप महिला टेनिस का सबसे बड़ा टीम इवेंट है यह टूर्नामेंट 1963 से हर वर्ष खेला जा रहा है वर्ष 1995 तक इसे फेडरेशन कप के नाम से जाना जाता था बाद में इसका नाम फेड कप कर दिया गया अमेरिका ने सबसे अधिक 18 बार यह टूर्नामेंट जीता है

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *