Wednesday , April 24 2019
Loading...
Breaking News

वैज्ञानिकों ने पृथ्वी के इस गहरे हिस्से में लगाया ऑयल पीने वाले जीवाणु का पता

वैज्ञानिकों ने पृथ्वी के महासागरों के सबसे गहरे हिस्से मारियाना ट्रेन्च में ऑयल पीने वाले जीवाणु का पता लगाया है, इससे पानी में फैले हुए ऑयल को स्थायी तरीके से हटाने में मदद मिल सकती है मारियाना ट्रेन्च पश्चिमी प्रशांत महासागर में करीब 11,000 मीटर की गहराई पर स्थित है अध्ययन का नेतृत्व करने वाले चाइना के ‘ओशन विश्वविद्यालय’ के शियो हुआ झांग ने कहा, ‘ हमें महासागर के सबसे गहरे हिस्से के बजाय मंगल ग्रह के बारे में अधिक पता है ‘ अभी तक कुछ ही लोगों ने इस पारिस्थितिकी तंत्र में रहने वाले जीवों के बारे में अध्ययन किया है

ब्रिटेन के ‘ईस्ट एंग्लिया विश्वविद्यालय’ के जोनाथन टोड ने कहा, ‘ हमारा दल मारियाना ट्रेन्च के सबसे गहरे हिस्से में लगभग 11,000 मीटर नीचे माइक्रोबियल जीवाणू के नमूने लेने गया हमने लाए गए नमूनों का अध्ययन किया  हाइड्रोकार्बन डिग्रेडिंग बैक्टीरिया के एक नए समूह का पता लगाया ‘

टोड ने एक बयान में कहा, ‘ हाइड्रोकार्बन कार्बनिक यौगिक हैं जो हाइड्रोजन  कार्बन परमाणु के बने होते हैं ये कच्चे ऑयल  प्राकृतिक गैस सहित कई स्थानों पर पाए जाते हैं ‘ उन्होंने कहा, ‘ इस तरह के सूक्ष्मजीव ऑयल में मौजूद यौगिकों को खा जाते है  फिर ईंधन के रूप में इसका प्रयोग करते हैं इस तरह के सूक्ष्मजीव प्राकृतिक आपदा से हुए ऑयलरिसाव को खत्म करने में भी अहम किरदार निभाते हैं ‘

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *