Saturday , May 25 2019
Loading...
Breaking News

खून से लथपथ था पैर पर चेन्नई के इस खिलाड़ी ने जीत के लिये खेली 80 रन की पारी

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के फाइनल में मुंबई इंडियंस (MI) के विरूद्ध चेन्नै सुपर किंग्स (CSK) तब तक जीतते दिख रही थी, जब तक मैदान पर ऑस्ट्रेलियाई महान ऑलराउंडर शेन वॉटसन थे. उनके रन आउट होने के बाद मुंबई इंडियंस ने वापसी की  एक रन से मुकाबला  खिताब जीत ले गई. शेन वॉटसन की उस शानदार पारी को लेकर एक खुलासा हुआ है, जिसे जानकर मुंबई इंडियंस के फैन भी इस बल्लेबाज की तारीफ करेंगे.

दरसअल, मैच में वह एक रन चुराने के दौरान अपना घुटना चोटिल करवा बैठे थे  उनका पैर खून से लथपथ था. तस्वीर (लाल घेरे में) में भी आप साफ देख सकते हैं.बावजूद इसके उन्होंने 59 गेंदों में 8 चौके  4 छक्के की मदद से 80 रनों की पारी खेलते हुए मुंबई इंडियंस की जान आफत में डाल दी थी.

मैच समाप्त होने के बाद उनके घुटने में 6 टांके लगे. इसका खुलासा सीएसके के महान स्पिनर हरभजन सिंह ने किया. उन्होंने इंस्टाग्राम पर शेन वॉटसन के चोटिल घुटने वाली तस्वीर भी शेयर की.
उन्होंने अपने सोशल अकाउंट लिखा- क्‍या आपको उनके घुटने पर खून दिख रहा है. मैच के बाद उन्हें 6 टांके लगे. उन्हें यह चोट रन दौरान डाइव करते वक्त लगी थी, लेकिन उन्होंने किसी को बिना कुछ कहे बल्‍लेबाजी करना जारी रखा. भज्जी द्वारा जारी यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 12वां सीजन समाप्त हो गया है. इस सीजन में कई चीजें ऐसी हुईं जो लंबे समय तक याद की जाएंगी. अंपायर्स के फैसलों को लेकर चर्चा हो या फिर खिलाड़ियों का रवैया.

देखें इस सीजन की पांच सबसे विवादास्पद घटनाएं 

  • राजस्थान रॉयल्स के विरूद्ध मुकाबले में चेन्नै सुपर किंग्स के कैप्टन महेंद्र सिंह धोनी का मैदान पर आकर अंपायर से बहस करने लगे. क्रिकेट के चाहने वालों को कैप्टन कूल का यह रवैया रास नहीं आया. अंपायर उल्हास गांधे ने चेन्नै सुपर किंग्स की पारी के आखिरी ओवर में बेन स्टोक्स की एक गेंद को नो-बॉल करार दिया, जिसे स्क्वेअर लेग अंपायर से वार्ता के बाद बदल दिया गया. धोनी इस बात पर अपना आपा खो बैठे  डग आउट से मैदान में जाकर अंपायरों से बहस करने लगे. धोनी के इस रवैये के कई पूर्व क्रिकेटरों ने आलोचना की. उनके इस रवैये के लिए उन पर 50 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया.
  • कोलकाता की टीम प्लेऑफ तक नहीं पहुंच पाई. हालांकि ऐसी खबरें भी आईं कि टीम में सब कुछ अच्छा नहीं चल रहा है. आंद्रे रसेल ने आईपीएल में टीम के बेकार प्रदर्शन के लिए टीम द्वारा लिए गए ‘खराब फैसलों’ को जिम्मेदार ठहराया था. रसल ने लगातार छह मैच हारने के बाद यह बात कही थी. उन्होंने बोला कि हमारे पास अच्छी टीम है लेकिन बेकार निर्णय लेने पर जीत नहीं सकते  हमने वही किया है.
  • इंडियन प्रीमियर लीग 2019 में अंपायरिंग कई बार विवादों में रही. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर  मुंबई इंडियंस के बीच एक मुकाबले में मैच की आखिरी गेंद को अंपायर ने नो-बॉल नहीं दिया. हालांकि मलिंगा का पैर क्रीज से बाहर था. इसके बाद भी कई बार अंपायरिंग चर्चा में बनी रही. एक मुद्दा इंग्लिश अंपायर नीजल लॉन्ग का एक मुद्दा भी सामने आया. एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में एक मैच के दौरान रॉयल चैंलेजर्स बैंगलोर (RCB) के कैप्टन विराट कोहली अंपायर लॉन्ग के बीच नोबॉल को लेकर बहस हो गई. इस बहस के बाद अंपायर लॉन्ग इतने नाराज हो गए कि उन्होंने हैदराबाद की पारी के अंत में अंपायर रूम के दरवाजे पर गुस्से में किक मार दी. लॉन्ग की किक इतनी तेज थी कि अंपायर रूम का दरवाजा ही डैमेज हो गया.
  • चेन्नै सुपर किंग्स के विरूद्ध फाइनल मुकाबले के दौरान जब अंपायर ने एक गेंद को वाइट करार नहीं दिया तो पोलार्ड ने बल्ला हवा में उछाल दिया. अंपायर के इस निर्णय से यह कैरेबियाई बल्लेबाज इतना नाराज हुआ कि ट्रेमलाइन के पास जाकर बल्लेबाजी करने लगा. अंपायर ने उन्हें ऐसा करने से रोका. पर पोलार्ड ने सीजन के आखिरी मैच में अंपायरिंग को एक बार फिर चर्चा में ला दिया.
  • पंजाब टीम के कैप्टन रविचंद्रन अश्विन के जोस बटलर को रन आउट करना लंबे समय तक याद किया जाएगा. राजस्थान रॉयल्स (RR)  किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के बीच जयपुर में खेले गए मुकाबले में अश्विन गेंदबाजी कर रहे थे  जोस बटलर गेंदबाजी वाले छोर पर थे. अश्विन ने गेंद फेंकने से पहले देखा कि बटलर क्रीज से बाहर हैं  उन्होंने गिल्लियां बिखेर दीं. इस पर बहुत ज्यादा टकराव भी हुआ. कुछ लोगों ने अश्विन के इस निर्णय को खेल भावना के खिलाफ बताया वहीं कुछ लोगों को अश्विन के इस निर्णय में कुछ गलत नजर नहीं आया.
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *