Saturday , May 25 2019
Loading...
Breaking News

ईरान व अमेरिका के बीच चल रहे तनाव से हो सकता है तीसरा दुनिया युद्ध, पढ़े पुरी खबर

 ईरान  अमेरिका के बीच लंबे समय से चल रहा तनाव क्या तीसरे दुनिया युद्ध की आहट है? दरअसल यह सवाल इसलिए उठ रहा है क्योंकि पश्चिम एशिया में अमेरिकी सैन्य मौजूदगी तेजी से बढ़ने के बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान को चेतावनी दी कि यदि वह कोई हिमाकत करता है तो उसे इसका भारी खामियाजा भुगतना पड़ेगा अमेरिका ने ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते पर भी प्रतिबंध लगा दिए है, लेकिन ईरान खुले तौर पर यह कह रहा है कि अगर अन्य देश भी इस प्रतिबंध का समर्थन करते हैं तो वह अपनी परमाणु संबंधी गतिविधियां फिर से प्रारम्भ कर देगा दोनों ही तरफ से तलवारें खिंच चुकी है

वाशिंगटन ने पिछले हफ्ते खाड़ी में युद्धपोत  युद्धक विमान तैनात कर दिए हैं   उधर रूहानी ने कहा, ‘अमेरिका द्वारा नए सिरे से लगाए गए प्रतिबंधों से देश की आर्थिक स्थिति 1980-88 में पड़ोसी देश इराक से युद्ध के दौरान हुई स्थिति से बदतर हो गई है लेकिन तब युद्ध के समय हमें अपने बैंकों, ऑयल की बिक्री या आयात  निर्यात में कोई समस्या नहीं थी  तब सिर्फ हथियार खरीद पर प्रतिबंध लगा था ”

रूहानी ने प्रतिबंधों का सामना करने के लिए राजनीतिक रूप से एक होने का आवाह्न किया उन्होंने कहा, “वर्तमान में दुश्मनों का दवाब हमारी क्रांति के इतिहास में अभूतपूर्व है  लेकिन मैं निराश नहीं हूं  मुझे भविष्य की उम्मीद है  मैं मानता हूं कि हम एक होकर इस मुश्किल हालात से आगे निकल जाएंगे ”

ः 

अमेरिका-ईरान के तनाव ने 2015 में हुए ऐतिहासिक परमाणु समझौते पर प्रश्न चिह्न लगा दिए हैं, जिस पर तेहरान ने संयुक्त देश सुरक्षा परिषद के पांच स्थाई सदस्यों  जर्मनी के साथ हस्ताक्षर किए थे अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 2018 में खुद इस समझौते को तोड़कर ईरान पर दोबारा प्रतिबंध लगा दिए थेईरान ने इशारा दिए हैं कि अगर अन्य मेम्बर देश भी अमेरिकी प्रतिबंधों का समर्थन करते हैं तो वह अपनी परमाणु हथियार संबंधी गतिविधियां फिर से प्रारम्भ कर देगा यूरोपीय शक्तियों का बोलना है कि वे समझौते पर कायम हैं, लेकिन वे इस समझौते को समाप्त करने से रोकने के तेहरान की किसी चेतावनी को अस्वीकार करते हैं

ईरान के खामेनी ने कहा, अमेरिका के साथ कोई युद्ध होने नहीं जा रहा
ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनी ने मंगलवार को बोला कि अमेरिका के साथ कोई युद्ध नहीं होने जा रहा यह जानकारी उनकी अधिकारिक वेबसाइट पर दी गई है सरकारी अधिकारियों को दिए एक सम्बोधन में खामेनी ने बोला कि तेहरान  अमेरिका के बीच जो हुआ वह एक सैन्य मुठभेड़ के बजाय संकल्प का परीक्षण था खामेनी डॉट आइआर वेबसाइट ने उनके हवाले से बोला है कि कोई युद्ध नहीं होने जा रहा है ना तो हम  ना ही वह (अमेरिका) युद्ध चाहता है वे जानते हैं कि यह उनके हित में नहीं है अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी मंगलवार को बोला कि अमेरिका ईरान से युद्ध नहीं चाहता हालांकि उन्होंने बोला कि तेहरान पर दबाव बनाकर रखा जाएगा

ट्रंप ने ईरान पर दबाव के लिए 1,20,000 सैनिकों को भेजने की योजना से मना किया
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को उस समाचार को खारिज कर दिया कि वह ईरान पर दबाव बनाने के लिए 1,20,000 सैनिकों को भेजने पर विचार कर रहे हैं हालांकि, उन्होंने भविष्य में सैनिकों को भेजने से मना नहीं किया ट्रंप ने कहा, ‘‘मुझे लगता है यह फर्जी समाचार है ’’ न्यूयार्क टाइम्स में एक समाचार आयी थी कि व्हाइट हाउस ईरान की सरकार पर दबाव बढ़ाने की अपनी मुहिम के तहत 1,20,000 सैनिकों को उस क्षेत्र में भेजने पर विचार कर रहा है . ट्रंप ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ क्या मुझे ऐसा करना चाहिये ? लेकिन अभी हमने इसके लिए योजना नहीं बनायी है ’’ उन्होंने कहा, ‘‘उम्मीद है कि हम इस पर योजना नहीं बना रहे . अगर हमने ऐसा किया तो कहीं अधिक सैनिक भेजेंगे ’’

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *